चंडीगढ़ 13 दिसंबर ( Pooja Goyal )

आजकल हर जगह नारी शक्ति की बहुत चर्चा होती है के किस तरह आजकल महिलायें हर क्षेत्र में आगे बड़ रही है, वो चाहें अपने घरों में रह रहे हों या बाहर काम कर रहे हों, वे एक स्वतंत्र दृष्टिकोण का दावा करती हैं. वे अपने जीवन पर नियंत्रण प्राप्त कर रही हैं और अपने शिक्षा, करियर, पेशे और जीवनशैली के संबंध में अपना निर्णय ले रहे हैं. पंजाब सबसे बड़ा राज्य है, जिसने सबसे अधिक महिला योद्धाओं को जन्म दिया है, परन्तु आज हम अपनी मजबूत पकड़ को अपने साहसी दायरे से लुप्त होते देख रहे है. निर्देशक अजित आर राजपाल ने बताया के हमारी महिलाओं का जीवन बेहतर बनाने व् उन के साहस को रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में इस्तेमाल करने की हमारी ये छोटी सी कोशिश है. इस पंजाबी फिल्म में पंजाब के पांच अलग-अलग शहरों की सिख लड़कियों हैं, जो पीड़ा से गुज़रती हैं, लेकिन सब एक जुट हो कर हर कठिनाई का डट के मुकाबला करती हैं. 
निर्देशक अजित आर राजपाल के निर्देशन में बानी इस फिल्म में हम दृष्टि ग्रेवाल, डिएना उप्पल, निर्मल ऋषि, नीत कौर, स्वाति बक्शी, चैतैन्य कन्हाई, तनविसर सिंह व् शशि किरण को हम एहम किरदारों में देखेंगे. डेलीवुड स्टुडिओज़ प्राइवेट लिमिटेड के बैनर में बनी इस फिल्म के निर्माता हैं राकेश चौधरी, सुरेश चौधरी व् वसीम पाशा. अजित आर राजपाल ने लिखी है इस की कहानी और सोहेब सिद्दीक़ी हैं इस के छायाचित्र निर्देशक. फिल्म को वाइट हिल स्टूडियोज द्वारा डिस्ट्रीब्यूट किया जा रहा है. ये फिल्म १५ दिसम्बर २०१७ को रिलीज़ हो रही है.
मीडिया से बातचीत के दौरान निर्देशक अजित आर राजपाल ने बताया, “हार्ड कौर, पंजाबी सिनेमा का सबसे बेहतरीन उदाहरण है, जो महिलाओं के सशक्तिकरण को अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन में पेश करेगी”. उन्होंने आगे फिल्म के सार के बारे में बताया, “ये कहानी एक कौर की है जो एक स्कूल टीचर है और जो रोज़ एक लोकल बस द्वारा पटिआला से दोंक्ला से राजपुरा बाईपास तक सफर करती है और इस दुराण उस की मुलाक़ात एक बहुत ही अमीर लड़के से होती है जो की हरियाणा से है और किस तरह से उस की ज़िन्दगी एक मोड़ लेती है जब चलती बस में एक खून हो जाता है और किस तरह ये मासूम लड़की उस में फस जाती है और किस तरह बाकी की चार कौर एकजुट हो कर इस लड़की को न्याय दिलाती हैंज्ज्.
निर्माता राकेश चौधरी, सुरेश चौधरी व् वसीम पाशा ने बताया, “डेलीवुड स्टुडिओज़ प्राइवेट लिमिटेड के लिए , एक शानदार फिल्म “हार्ड कौर” जैसी फिल्म का निर्माण करना एक गर्व की बात है. हम क्षेत्रीय सिनेमा को एक उच्च स्तर देने में बहुत गर्व महसूस करते हैं”.
लीड एक्टर, चैतन्य कन्हई, ने भी बताया, “मैं इस तरह के कांसेप्ट व् कंटेंट वाली फिल्म कर बहुत ही खुश हूँ और मुझे पूरी उम्मीद है के दर्शक इस फिल्म को ज़रूर पसंद करेंगे”.
इस फिल्म मे चार गाने है जिन्हें गाया है नछत्तर गिल, प्रभ गिल, नूरां सिस्टर्ज व् अमन त्रिखा ने. इन को गीतों को लिखा है अनिल जींजर, राजवीर सिंह प्रजापति, सोनू ललका, कुंवर वड़ैच, ऐएम् तुराज व् रवि बसनेट ने व् संगीत दिया है प्रतीक, अम्बिका, शिवा रामगड़िआ, एनकी व् बबली हक़ ने.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here