चण्डीगढ़, 6 दिसंबर 2017 (Pooja Goyal)

ट्राइसिटी में रक्तदान शिविर तो आए दिन लगाते जाते हैं पर आज नया गांव (जिला मोहाली) में एक अनूठा रक्तदान शिविर लगाया गया जहां 60 कश्मीरी लोगों ने भारत माता की जय और कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत एक है के नारों के साथ रक्तदान किया।
इनमें महिलाएं और बच्चियां भी शामिल थीं।
यह आयोजन गैर सरकारी समाजसेवी संगठन (एनजीओ) जन एकता सेवा संस्थान (रजि.) के संचालक बलदेव कुमार के प्रयासों से किया गया। बलदेव कुमार पिछले दस साल से कश्मीर के लोगों के लिए कार्य कर रहे हैं और कश्मीर के लोग उन्हें अपना चाचा कहते हैं। सर्दियों में कश्मीरी नागरिकों को कंबल एवं खाने का सामान आदि वितरित करना, रक्तदान शिविर लगाना आदि समाजसेवा के कार्य बलदेव करते रहते हैं।
बुधवार को नयागांव के आदर्श नगर रामलीला ग्राउंड में तीसरे रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर का उद्धघाटन नयागांव के पार्षद गुरध्यान सिंह ने कश्मीर की बेटियों सहित किया। मूनलाइट वेलफेयर सोसाइटी बी.के. पोरा, बड़गाम, कश्मीर के 60 वालंटियर्स ने इस कैम्प में हिस्सा लिया। पीजीआई की डॉ अनिता और उनकी टीम ने 140 यूनिट ब्लड एकत्रित किया।
बलदेव कुमार ने बताया कि इससे पहले कश्मीर में जो रक्तदान शिविर लगाए जाते थे उनमें पचास से भी कम यूनिट रक्त एकत्र होता था। परंतु जब उन्होंने वहां रक्तदान शिविर लगाया तो उसमें आंकड़ा सौ से भी ऊपर पहुंच गया। आज कश्मीर विभिन्न हिस्सों से लोग खासतौर से रक्तदान करने के लिए शहर पहुंचे हैं।
बलदेव कुमार ने बताया कि न सिर्फ उन्हें कश्मीरियों से प्यार हैं बल्कि कश्मीरियों को भी उनसे उतना ही प्यार है। इसी के चलते उन्होंनें इस बार यह रक्तदान शिविर नयागांव में आयोजित करने का निर्णय लिया।
भारत माता की जय के नारों से बनाया देशभक्ति का माहौल
कश्मीर भारत का हिस्सा है और कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत एक है। भारत माता की जय, वंदे मातरम। कुछ ऐसे ही नारे सुनने को मिले कश्मीरी भाइयों और बहनों के मुँह से। कश्मीर के मूनलाइट वेलफेयर सोसाइटी के वालंटियर्स ने बताया कि हम भारत को अपना देश मानते हैं और हमारे अंदर भी उतनी ही देशभक्ति है जितनी देश के अन्य किसी व्यक्ति में है। हम खुलकर सामने आए हैं और हमें कोई डर नहीं ऐसा कहने में कि भारत हमारा देश है। भारत माता की जय। हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई भाई-भाई। हिंदुस्तान जिंदाबाद। अखंड भारत हमारा सपना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here