-एक्टिंग के साथ मजबूत सितारे भी जरुरी-कश्यप
-चंडीगढ़ में कई जगह होगी शूट

चंडीगढ़ 21 जून। फिल्मी दुनिया में एक्टिंग आने के साथ-साथ सितारे मजबूत होना भी बहुत जरुरी है। आपके सितारे ही आपको बुलंदियों पर लेकर जाते हैं। कई बहुत ही अच्छे कलाकार वर्षों तक प्रसिद्ध नहीं हो पाते, जबकि जिसके सितारे बुलंद हो, वह एक फिल्म करके ही कहीं से कहीं पहुंच जाते हैं। यह बात पंजाबी फिल्मों की दुनिया में जाने-माने डायरेक्टर राजेंद्र कश्यप ने पंचकूला में कही। राजेंद्र कश्यप ने हाल ही में सिल्वरओक के बैनर तले बनने जा रही फिल्म भुल्लर वर्सिस भाटिया को साइन किया है। इस पंजाबी कॉमेडियन फिल्म की पूरी स्क्रिप्ट राजेंद्र कश्यप लिख रहे हैं। फिल्म भुल्लर वर्सिस भाटिया के प्रोड्यूसर सुखप्रीत सिंह एवं राजेंद्र कश्यप ने बताया कि यह फिल्म एक कनैडियन युवती एवं पंजाब के युवक के प्रेम पर आधारित फिल्म है, जिसमें फिल्म की शुरुआत से लेकर अंत तक इतनी ज्यादा कॉमेडी होगी कि लोग फिल्म देखते समय हंस-हंस कर लोटपोट हो जाएंगे। इस फिल्म में पंजाबी सिनेमा जगत की कई बड़े चेहरे नजर आयेंगे, जिन्हें देखकर लोग खुद ही सिनेमा घरों तक खिंचे चले आएंगे। उन्होंने कहा कि डायरेक्टर को एक्टिंग आना बहुत जरुरी है, तभी वह फिल्म निर्देशन के दौरान हीरो, हीरोइन एवं अन्य को एक्टिंग सीखा पाएगा।
फिल्म के प्रोड्यूसर सिल्वरओक के सीइओ सुखप्रीत सिंह ने बताया कि भुल्लर वर्सिस भाटिया के डायरेक्टर राजेंद्र कश्यप हैं, जोकि कई बड़े हीरो हीराइनों को ब्रेक दे चुके हैं। सुखप्रीत सिंह के साथ वह पहली पंजाबी कॉमेडियन फिल्म बना रहे हैं, जिस पर लगभग 7 करोड़ रुपये की लागत आने की संभावना है। इस फिल्म की शूटिंग ट्राइसिटी के विभिन्न इलाकों के अलावा पंजाब के कुछ जिलों एवं कैनेडा में होगी। यह फिल्म सुखप्रीत सिंह के पिता स्व. सुरजीत सिंह को समर्पित होगी, जिनकी 18 फरवरी को पहली बरसी है। सुखप्रीत सिंह ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि लोगों का इस फिल्म को बहुत प्यार मिलेगा। सुखप्रीत के मुताबिक पंजाबी फिल्म बनाना उनके पिता का एक सपना स्व. सुरजीत सिंह का सपना था, जोकि लोगों को हमेशा हंसते हुए देखना चाहते थे। अब उनका सपना साकार करने के लिए ही इस फिल्म का निर्माण किया जा रहा है।
राजेंद्र कश्यप ने बताया कि कॉमेडियन कपिल शर्मा, राजीव ठाकुर, सुदेश लहरी, बिनू ढिल्लों को वह ट्रेनिंग दे चुके हैं। राजेंद्र कश्यप के कैरियर की शुरुआत दूरदर्शन से हुई थी। उन्होंने सबसे पहले प्रोफेसर मणिप्लांट बनाया। उसके बाद डोंट वैरी यारा, घर ज्वाईंया दा, खिंच घुग्गी खिंच, लख परदेसी होइये जैसे कई सीरियल एवं फिल्मों की स्क्रिप्ट राजेंद्र कश्यप ने ही लिखी है। छणकाटा, जुग्नू भी उन्हीं की देन है। कश्यप आज तक लगभग 15 सीरियल एवं 40 फिल्म स्क्रिप्ट लिख चुके हैं। उन्होंने बताया कि अब वह सुखप्रीत सिंह की फिल्म की स्क्रिप्ट लिख रहे हैं और यह फिल्म भारत एवं विदेशों में जमकर धूम मचायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here