चंडीगढ़ 22 अक्टूबर (पूजा गोयल) :

कहते है संगीत एक ऐसे कला है. जो किसी भी व्यक्ति में जान फुक देती है. और संगीत से जुड़ा व्यक्ति हमेशा अपनी जमीन से भी जुड़ा रहता है. आज बच्चे भी संगीत में अपना करियर देख रहे है. और उसके लिए खूब मेहनत भी कर रहे है. चंडीगढ़ निवासी दानिश शर्मा भी सिर्फ आठवीं कक्षा में है और अपनी बांसुरी वादक के हुनर से सिटी का प्राइड बन चूका का है और चंडीगढ़ सिटी का नाम रोशन कर रहा है. दानिश पिछले एक साल से यूट्यूब से बांसुरी बजाना सिख रहा है. और किसी भी तरह का प्रोफेशिओनल कोर्स न करने के बाद भी उसकी बांसुरी में इतनी मिठास है जो की अच्छे-अच्छो के पसीने छूटा देती है. दानिश अभी से ही माँ वीरा देवी सोसाइटी, हिंदी भाषा सम्मेलन, ज्ञान डीप सोसाइटी जैसे नामी सोसाइटी में अपनी प्रतिभा दिखा चूका है और हर एक न्यूज़ पेपर भी अपना नाम जमा चूका है.

कैसे की अपने पैशन की शुरुआत –
दानिश ने बताया की वो लक बाय चांस ही बांसुरी वादक बने. उनके स्कूल में एक एनुअल फंक्शन था , उस दौरान स्कूल द्वारा ही हमें बैंड में हिस्सा दिलवाया गया. जिसका नाम रखा गया द शूटिंग स्टार बैंड और एक म्यूजिक टीचर ने म्यूजिक से सम्बंधित बेसिक नॉलेज दी. उस समय बांसुरी ने मुझे खूब आकर्षित किया और मैंने उसे अपना पैशन बना लिया.

यूट्यूब भी मेरी म्यूजिक की दुनिया:
दानिश ने बताया की यूट्यूब से ही उन्होंने बांसुरी में सही सुर लगाने सीखे. इतना ही नहीं उन्होंने आज तक कोई प्रोफेशनल कोर्स नहीं किया है. उसका मानना है की सोशल मीडिया का अगर सही प्रयोग किया जाये तो सोशल मीडिया से अच्छा गुरु नहीं हो सकता.

एक्टर यशपाल शर्मा बने मेरी इंस्पेरशन-
दानिश ने बताया की एक्टर यशपाल शर्मा हमारी फॅमिली के ही पार्ट है. बचपन से ही उन्हें एक्टिंग लाइन में देखते आ रही हूँ, इणलिए मेरी भी इच्छा थी की भी ग्लैमर लाइन में अपना नाम कमाऊ. तो चाहे वो बांसुरी वादक के रूप में क्यों न हो.

मेरा बच्चा मेरा गरूर –
दानिश के पिता विनोद शर्मा ने बताया की मेरा बेटा मेरा गरूर है. वो अपनी ज़िंदगी में जो बनना चाहता है हम कभी भी इसे कुछ भी बनने के लिए मजबूर नहीं करते. इसका जो मन है वो करे. बस जो भी करे अपना 100 % दे, ये जरूर समझते है. मेरा मानना है की बच्चो को उनके मन का करने देना चाहिए. जिस से वे अपनने सपनो को एक पहचान दे सके.

अब लूंगा प्रोफेशनल ट्रेनिंग-
दानिश ने बताया की अब मै पंजाबी यूनिवर्सिटी के टेक्निकल असिस्टेंट मुस्तफा हुसैन से म्यूजिक की ट्रेनिंग लेंगे. ताकि वे बच्चो के टी.वि पर होने वाले लाइव कंसर्ट्स में पार्टिसिपेट कर सके. जो उनके काम को और निखारे गा.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here