चंडीगढ़, 1जनवरी, 2018 (Pooja Goyal) :

आईये नव वर्ष-2018 के आगमन पर हम एक दूसरे को प्रीत प्यार सहनशीलता तथा सत्कार वाले उपहार भी देना शुरु करें और अपने जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने का संकल्प लें। इस नव वर्ष को अपने पुराने नकारात्मक स्वभाव को ही फिर से न आरंभ कर दें बल्कि सकारात्मक व्यवहार तथा भावनाओं से इसमें कदम रखें। यह  संदेश निरंकारी सद्गुरु माता सविन्दर हरदेव जी महाराज ने नव वर्ष के आगमन पर विश्व के नागरिकों तथा विशेष रूप से संत निरंकारी मिशन के अनुयायियों को दिया। ये जानकारी चंडीगढ़ के संयोजक श्री नवनीत पाठक जी ने दी

 सद्गुरु माता जी ने कहा कि हम नव वर्ष का स्वागत् एक-दूसरे से उपहारों तथा शुभकामनाओं के आदान प्रदान से करते हैं परंतु सबसे सुन्दर उपहार प्रीत प्यार सहनशीलता तथा सत्कार का ही होगा। इसी प्रकार हम नव वर्ष पर कुछ नया करने के लिये संकल्प भी करते हैं। यह संकल्प भी अपने जीवन में एक अच्छा बदलाव लाने वाला हो। जब तक हम अपना काम करने का तरीका,अपना बात करने का तरीका नहीं बदलते, हम अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव की उमीद कैसे कर सकते है? सद्गुरु माता जी ने कहा कि यह सकारातमक बदलाव का संकल्प केवल आज के लिये ही न हो बल्कि ये भाव हमेशा के लिये बने रहें। सद्गुरु माता जी ने सबके लिये शुभाकामना करते हुए कहा कि निरंकार सभी को ऐसी सोच दे कि इन्सान-इन्सान के काम आ सके औरअपने लिये तथा दूसरों के लिए खुशी व आनंद का कारण बन सके। अपने भक्तों के लिये अरदास क रते हुए उन्होंने कहा कि नये वर्ष में सभी सेवा, सुमिरण और सत्संग को और भी मजबूती दे सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here