Pooja Goyal

डीपी वल्र्ड स्प्रिंगबोर्ड की भांतिअपने संसाधनों का प्रयोग करद्विपक्षीय व्यापार और निवेशको दे रहा है बढ़ावा

चंडीगढ़। 

डीपी वल्र्ड यूएई रीजन द्वारा उठाएगए अहम कदमों के चलते भारत औरसंयुक्त अरब अमीरात के बीच व्यापारऔर निवेश का प्रवाह तेजी से बढ़ रहाहै। डीपी वल्र्ड यूएई रीजन द्वाराभारतीय उद्योग परिसंघ के साथसंयुक्त रूप से आयोजित व्यापार एवंनिवेश सेमीनार के दौरान यह बातकही गई।

सेमीनार के दौरान डीपी वल्र्ड यूएईरीजन के एग्जीक्यूटिवस ने भारतऔर यूएई दोनों में मौजूद सहयोग केक्षेत्रों के बारे में जानकारी दी जिसमेंपोर्ट सेंट्रिक लॉजेस्टिक्स, इनलैंडलॉजेस्टिक्स, फ्राइट व ट्रांसपोर्ट आदिके समाधान शामिल हैं। इसका उद्देश्यअनुकूल सप्लाई चेन के माध्यम सेव्यापार प्रभाव को बढ़ावा देना है। भारत-यूएई सेतू पहल भारत औरयूएई में व्यापार और निवेश दोनों कोआकर्षित करने के उद्देश्य से डीपीवल्र्ड भारत और यूएई व्यापारबिरादरी के लिए प्रौद्योगिकी संचालितएंड-टू-एंड इंटेलिजेंट व्यापार समाधानप्रदान करता है। डीपी वल्र्ड भारत केमेक इन इंडिया दृष्टिकोण और दुबईकी दुनिया का नंबर 1 ट्रेड हब बननेकी महत्वाकांक्षा और वैश्विक बाजारोंके लिए भारत को प्रवेश द्वार बनाने केलिए प्रतिबद्घ है।

भारत-यूएई ब्रिज के तहत दिया गयाई 2 ई समाधान दोनों देशों में संपत्तिऔर क्षमताओं का लाभ उठाकरनिवेशकों को वेल्यू प्रेपोजिशन केमाध्यम से समर्थन करेगा। इसकाउद्देश्य जेबेल अली नेटवर्ककनेक्टिविटी के माध्यम से बड़ेउपभोक्ता बाजारों तक पहुंच कोबढ़ाना है, जिसमें 150 डायरेक्ट पोर्टऑफ कॉल, 80 से अधिक साप्ताहिकसर्विस और छह महाद्वीपों के 40 सेअधिक देशों में 150 से अधिकऑपरेशन पोर्टफोलियो हैं।

अपनी इस पहल के तहत डीपी वल्र्डयूएई रीजन ने जाफजा वन में इंडियनट्रेडर्स इनक्यूबेशन सेंटर लॉंच कियाहै। इसमें व्यापार को न केवल जेबेलअली के एकीकृत व्यापारपारिस्थितिकी तंत्र से लाभ होगा,बल्कि मध्य पूर्व और उसके पार केनए बाजारों तक इसकी पहुंच बढ़ेगीऔर विस्तार करने में व्यापार सक्षमहोंगे।

डीपी वल्र्ड यूएई रीजन के सीईओतथा प्रबंध निदेशक व जाफजा केसीईओ मोहम्मद अल मुअल्लेम नेकहा कि भारत और यूएई लंबे समयसे सौहार्दपूर्ण व्यापार और व्यापारसंबंधों को कायम रखे हुए हैं और इसेने भारत को हमारे शीर्ष तीनव्यापारिक साझेदारों में से एक बनायाहै। दीर्घकालिक निवेश से दोनों कोफायादा होता है और दोनों देशों नेएक दूसरे पर विश्वास की मिसाल पेशकी है। उन्होंने कहा कि उनका उद्देश्यदोनों देशों में निवेशकों के लिएस्प्रिंगबोर्ड के रूप में काम कर जेबेलअली पोर्ट और जाफजा कोअपनाकर अवसरों का पता लगाने केलिए हितधारकों के साथ साझेदारी मेंकाम करना है।

डीपी वल्र्ड यूएई रीजन द्वारा व्यापारोंको अपने ग्लोबल कनेक्शन औरलोकल एक्सपर्ट के द्वारा स्टेट ऑफ दआर्ट तकनीक के माध्यम से व्यापारोंको सुविधा प्रदान करना है जोसफलता का मुख्य साधन है। उन्होंनेकहा कि समाधान अनुकूल हैं औरआवश्यकता व पैमाने के आधार परउपलब्ध करवाए जाते हैं। सबसेआवश्यक समय पर सप्लाई चेन मेंसमाधान उपलब्ध करवाया जाता हैओर इसके माध्यम से वैश्विक स्तर परकार्गो ट्रांसपोर्ट में मदद करता है।उन्होंने कहा कि आपूर्ति श्रृंखला केप्रत्येक चरण में कंपनी अपने ग्राहकोंसे जुड़ी रहती है और हर आवश्यकसहायता भी उपलब्ध करवाई जातीहै। उन्होंने कहा कि हम दुबई कोभारतीय उद्योगों, व्यवसायों औरनिवेशकों के लिए पसंदीदा हब बनानाचाहते हैं।

2018 में डीपी वल्र्ड का इंडियासनेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर फंड के साथज्वाइंट निवेश 3 बिलियन डालर थाजिससे समुद्र व नदियों के तटों परप्रोजेक्ट स्थापित करना, मालकॉरिडोर, स्पेशल एकोनॉमिक जोन,इनलैंड कंटेनर टर्मिनल व लॉजेस्टिक्सइंफ्रास्ट्रक्चर आदि को कोल्ड स्टोर केरूप मे स्थापित करना रहा।

अजूनी बायोटेक लिमिटेड के प्रबंधननिदेशक तथा सीआईआई उत्तरी क्षेत्रके पूर्व चेयरमैन गुरमीत सिंहभाटिया भी इस सम्मेलन में शामिलहुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here