चंडीगढ़, 19 जनवरी (Pooja Goyal)-
अंतर्राषअट्रीय शिक्षण के लिहाज़ से कनाडा विश्वभर के छात्रों की पहली पसंद बनकर उभर रहा है। वजह है यहां की उत्कृष्ट शिक्षण प्रणाली। कनडा भारतीय छात्रों की भी पहली पसंद बनता जा रहा है, और यहां सालाना हज़ारों भारतीय छात्र शिक्षा ग्रहण करने के लिए पहुंच रहे है। और जो इस विचार में डूबे हैं कि कनाडा में शिक्षा के लिए कहां जाया जाए, उनके लिए विशेष ऑफर के साथ स्प्रॉट शॉ कॉलेज खुद बुलावा देने पहुंचा है।
स्प्रॉट शॉ कॉलेज के अध्यक्ष, प्रैट्रिक डैंग आज शहर में थे और इस दौरान उन्होंने कॉलेज और वहां भारतीय छात्रों के लिए उपलबध पाठ्यक्रमों के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा, “स्प्रॉट शॉ कॉलेज बीसी, कनाडा के सबसे पुराने शिक्षण संस्थानों में से एक है। ये संस्थान साल 1903 में स्थापित हुआ था और तब से आज तक वो छात्रों को ऐसे शिक्षण कार्यक्रम प्रदान कर रहा है जो आधुनिक दौर की जॉब मार्केट की ज़रूरतों पर खरा उतर रही है। हम भारतीय छात्रों के लिए तीन नए विशेष कार्यक्रम लेकर आ रहे हैं। इनमें बीसीआईटी पाथवे कार्यक्रम शामिल है जो ब्रिटिश कोलंबिया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलॉजी के साथ मिलकर खास तौर से विकसित किया गया है। दूसरा कार्यक्रम पोस्ट ग्रेजुएट सर्टिफिकेट इन नर्सिंग है जिसमें उन छात्रों को प्रशिक्षित किया जाता है जो कनाडा में रजिस्टर्ड नर्स बनना चाहते हैं। वहीं, हम छात्रों के लिए इंडस्ट्रियल डिज़ाइन और स्सटेनएबल आर्कीटेक्चर प्रोग्राम्स लेकर भी आ रहे हैं।
श्री डैंग ने आगे कहा, “हमारे कार्यक्रम छात्रों को वो ज़रूरी कौशल प्रदान करते हैं जिससे वो अपनी पूर्ण क्षमता को पहचानकर अपने करियर के लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं। इन कार्यक्रमों के अलावा स्प्रॉट शॉ कॉलेज अंतर्राष्ट्रीय छात्रों के प्रशिक्षण पर केंद्रित है ताकि वो अगले 3 से 5 सालों के अंदर जॉब मार्केट में उतपन्न होने वाली नौकरियों के लिए तैयार हो सकें”।   
उन्होंने कहा,  “हम सार्थक करियर के महत्व को अच्छी तरह समझते हैं और हमारे ग्रेजुएट्स को स्थाई रोज़गार मुहैया करवाना हमारी टीम की प्राथमिकता है”।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here