चंडीगढ़: POOJA GOYAL
आयरलैंड के राजदूत ब्रायन मैकएल्डफ ने भारतीय उद्योग परिसंघ द्वारा उत्तरी क्षेत्र मुख्यालय में आयोजित संवाद सत्र के दौरान भारतीय उद्योगपति के लिए आयरलैंड में निवेश के अवसरों पर सीआईआई सदस्यों से संवाद किया। आयरिश प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने भारतीय व्यापारिक उद्यमों के लिए आयरलैंड में व्यापार स्थापित करने के लिए प्रस्तावों, समर्थक निवेश नीतियों और सुविधाओं के बारे में जानकारी सांझा की। इसके साथ ही उन्होंने भविष्य में भारत के सभी निवेशकों को आयरलैंड में समर्थन देने का आश्वासन दिया।
मैकएल्डफ ने अपने महामहिम दोनों देशों के बीच ऐतिहासिक गूढ़ रिश्तों के बारे में चर्चा करते हुए उसके वर्णन में कहा कि हमारे स्वतंत्रता आंदोलन एक दूसरे से प्रेरित थे। ब्रेक्सिट ने हमें अवसर प्रदान किए हैं लेकिन हमें अफसोस हैं क्योंकि हम यूरोपीय संघ (ईयू) के विचारों को मानते हैं और इसके मूल्यों का प्रतिनिधित्व करते हैं। एक गरीब देश होने के चलते आयरलैंड की सफलता की अपनी कहानी है जो काफी हद तक भारत की तरह है। हमारे लिए हमेशा विन-विन की स्थिति होती है क्योंकि हम एक वैश्विक राष्ट्र हैं और मुक्त व्यापार में विश्वास करते हैं। व्यापार की सुविधा के लिए हमारी अर्थव्यवस्था कम टैक्स वाली है और हम नौकरशाही को स्ट्रीमलाईन ला रहे हैं। एक देश के रूप में आयरलैंड में मिलकर व्यापार करने की प्रवृत्ति के साथ ही कुशल कर्मचारियों की बड़ी संख्या मौजूद है। हम चाहते हैं कि हमारी विकास मार्ग की ओर बढऩे में भारत हमारा सहयोग करे। साझा मूल्य प्रणाली के साथ मुझे यकीन है कि हम अपने व्यापार संबंधों को नए उच्च स्तर तक लेकर जा सकते हैं।
आईडीए आयरलैंड के भारत में निदेशक तनाज बुहारीवाला ने कहा कि यूरोप में खुद को स्थापित करने के लिए आयरलैंड को आधार बनाने में भारतीय कंपनियों की दिलचस्पी बढ़ रही है और यह ब्रेक्सिट के बाद के माहौल में विशेष रूप से प्रासंगिक हो गया है। आयरलैंड की अपनपी विशिष्ट विशेषताएं हैं जो व्यापार के लिए आदर्श माहौल प्रदान करती हैं क्योंकि यह ईयू का एक हिस्सा है और क्षेत्र का एकमात्र अंग्रेजी बोलने वाला भाग है जिसमें एक सुविधाजनक कारोबारी माहौल है। जिसमें प्रतिस्पर्धी कर शासन और स्थानीय प्रतिभा की उपलब्धता मौजूद है। भारत की छोटी और बड़ी कंपनियां आयरलैंड में विनिर्माण, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन, भंडारण, जैसे विस्तृत क्षेत्र में युवा शक्ति, उत्पादकता और बहुभाषी कार्य बल के साथ मिलकर काम कर रहें हैं। उन्होंने कहा कि हम चंडीगढ़ स्थित कंपनियों से मिली प्रतिक्रिया से उत्साहित हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here